Mercury planet जिसे हिंदी मे बुध ग्रह कहते है। (Mercury planet fact in Hindi) ये सुर्यमडल के सुर्य से सबसे नजदिक ग्रह है।ये ग्रह सब्से छोटा ग्रह है पर पृथ्वी के चांद से बड़ा है। सुर्य के सबसे नजदिक होने के कारण इसे हम आसानी से देख नही सकते है। ऐसे ही मजेदार जानकारियो को mercury  in hindi जानेंगे।

क्या आप जानतेहै?( mercury planet fact in hindi)

mercury planet fact in Hindi
  • Save
mercury planet fact in Hindi
  • Mercury planet के पास एक भी चांद नही है। ओर नाही उसके रिंग है।
  • Mercury planet सौर्यमंडल के सबसे छोटे ग्रह है।
  • Mercury planet ग्रह सुर्य के सब्से नजदिक ग्रह है।
  • पृथ्वि पर जितना वजन है आपका उसका 38% ही पर होता है। (इसका मतलब आप मोते नही हो आप गलत ग्रह पर हो)
  • Mercury planet पर एक साल मे 88 दिन होते है।
  • Mercury planet पर एक साल पुरा होने मे पृथ्वि के 88 दिन लगते है।
  • Mercury planet पर एक दिन पृथ्वि के 176 दिन के बराबर होता है।

सुर्यमंडल के सबसे छोटे ग्रह

पृथ्वि से नंग आंखो से देखे जाने वले 5 गर्हो मे से एक budh grah है, जो 4879 किलोमिटर मे फैला हुआ है। जो की पृथ्वी से 12742 किलोमीटर दुर है।  budh grah  अंडाकार के आकार के होने के कारन ओर सुस्त होने के कारण इस ग्रह पर सुर्य ग्रह के सतह पर दो बार उदय ओर अस्त दिखाई पड़ता है। ओर सुर्यास्त के समय उलटा दिखाई देता है। सुर्य के सब्से नजदीक होने के वावजुद भी budha graha ठंडा graha है।

Mercury के रिंग(Mercury planet fact in Hindi)

जब सौर्यमंडल मे विस्फोट हुआ था तब कुछ उलका पिंड ग्रहो का रुप ले लिया। उस समय वो एक आग के रुप मे थे। समय बितते गया ओर इनके वातावरन मे धुआ होने लगा जिससे ग्रहो के बाहर से रिंग जैसा बन गया। वैज्ञानिको ने इस ग्रह के रिंगको लोबेट स्कार्प्स नाम दिया है।

Mercury (बुध) पर पाये जाने वाले झुड़िया

  • Mercury (बुध गृह)  जो सुर्य के सबसे नजदिक है। ओर इस ग्रह पर पृथ्वी के बाद अधिक खनिज होने का दावा करते है। जब गरमी अधिक बढ़ जाता है। जिस वजह से इस ग्रह के सतह पर लोह पिधलने के कारण बुध ग्रह के झुड़िया बनती चली गयी।
  • ये जुड़िया 1 मिल तक उचा ओर हजारो मिल तक लंबि हो सकता है।
  • इन जुड़ियो को वैज्ञानिको ने नाम दिया है – लोबेट सकार्प्स( lobate scarps)

बुध ग्रह पर कितने भेजे गये अंतरिक्ष यान? (mercury in Hindi)

mercury planet fact in Hindi
  • Save
mercury planet fact in Hindi
  • सुर्य के सब्से नज्दीक ग्रह होने के कारण इस गरह पर बहोत ही कम अंतरिक्श यान भेजे गये है। जो की दो ही यान भेजे गये है।
  • जिसमे से पहला यान सन 1974 ओर 1975 मे (mariner10 (मरिन10) नाम के एक अंतरिक्ष यान को भेजा गया था। जिसमे ये सेट किया गया था की वो उस ग्रह के आधा सतह को माप कर उसकी जानकारीयो को बताये।
  • दुसरा अंतरिक्ष यान 3 अ‍ॅगेस्त 2004 मे भेजे गये थे। ओर इस अंतरिक्ष यान को लॉन्च किया गया था cape Canaveral air force station के मदद से इसे Mercury ग्रह पर भेजा गया था।
  • उपर के एक चित्र मे एक रोबोट है जो mercury के हलचलो को पता लगाता है।

इस ग्रह का नाम कैसे दिया गया?

ये Mercury नाम एक रोमन से लिया गया है। जो की आज से 3000bc पहले इसका नाम रखा गया था। किसी भी चिज़ को जब खोजते है तब ही उसका नाम रख दिया जाता है। उसि तरह जब 3000 bc साल पहले इसका खोज किया गया था तब उस समय रोमन के देवता हा दिन था इसलिये वो रोमन के नाम पर रखा गया।

Mercury ग्रह पर वातवरन मे जिवन सम्भव है क्या?

  • Mercury (बुध ग्रह) पर पटला वातवरन है, सोडियम, हाईड्रोजन, हिलियम, ओर पोटिसियम है इस ग्रह के सतह सुर्य से पास होने के वहह से सौर हवा तेजि से चलते है जिस वजह से सतह पर होने वाले परमाणु ओर माइक्रोमाईटेरॉइड प्रभाव Mercury को एक्सोस्फेयर का निर्माण करते है जिस्से सास नही ले सकते है।
  • पृथ्वी कि ग्रुतवाक्रष Mercury पर 38% कम भार है।

प्लुतो के बारे मे जाने:

दुनिया के सबसे बड़े सांपो के बारे मे जाने:

Mercury planet जुड़े रोचक तथ्य (Mercury planet fact in Hindi)

  1. Mercury (बुध ग्रह ) का कोई भी उपग्रह नही है।
  2. Mercury (बुध ग्रह ) जिसका चुम्ब्किये क्षेत्र पृथ्वी के चुम्ब्किये क्षेत्र से 1 % है।
  3. पृथ्वी के बाद Mercury (बुध ग्रह ) पर सबसे ज्यादा खनिज होने की संभवना है। बैज्ञानिको ने याहा पर पृथ्वी के बाद खनिज होने का दावा इसलिये करते है क्योकी याहा अधिक चट्टान ओर भारी धातुओ से बना चट्टान से ये पुरा ग्रह बना हुआ है।
  4. इस Mercury (बुध ग्रह) पर क्रेटर, मैदान,चट्टान ये तीन मुख्य रुप से सतह है।
  5. पृथ्वी के चंद्र्मा के सतह से मिलता है Mercury (budha graha) का सतह।
  6. एक तरफ जाहा पृथ्वी सुर्य को एक चक्कर लगाने मे 365 दिन का समय लेता है, वोही Mercury (budha graha) ये सुर्य को एक चक्कर पुरा करने मे 88 दिन का समय लेता है।
  7. पृथ्वी के सतह पर टेक्टोनिक प्लेट है वैसे ही Mercury (budha graha) ग्रह पर भी है जिसके कारण Mercury (बुध) इस ग्रह पर भी भुकंप के असर मालुम पड़ते है।
  8. वैज्ञानिको के अनुसार Mercury (बुध) ग्रह का भार लगभग 330,104,000,000,000,000,000,000, किलोग्राम हो सकता है।
  9. 3.7 सैकेंड के दर से Mercury (budha graha) इस ग्रह पर गुरुत्वाकर्षन बल रहता है।
  10. Mercury (बुध) ग्रह पर बड़े बड़े गढ्ढे पाये गये जो की ऐसा माना जाता है की कभी इस ग्रह से उलका पिंड या धुम्केतु तकराने के वजह से हुआ होगा।
  11. सुर्य के सबसे अधिक पास होने के कारन Mercury (बुध) ग्रह पर मानव निर्मित अंतरिक्ष यान भेजना अधिक खठिन है। अब तक केवल दो ही अंतरिक्ष यान भेजे गये है।
  12. नाईट्रोजन,हीलियम जैसे गैस Mercury (बुध) पर अधिक पाये जाते है।
  13. Mercury in hindi (बुध) का भार 3.29 *10^23kg (०.०6 पृथ्वी) जितना है।
  14. Mercury in hindi (बुध ग्रह ) की कक्षा की अवधी 88 दिन का है।
  15. Mercury  in hindi (बुध) के सतह का तापमान -173 से 427c जितना है।
  16. Mercury in hindi(बुध ग्रह ) को पहली बार 14वी century bc मे देखा गया था।
  17. इस Mercury in hindi  (बुध ग्रह ) को पहली बार Assyrian astronomers ने इसका उल्लेख किया था।

दोस्तो आपको mercury planet fact in hindi ( बुध ग्रह) मे दिये गये जानकारी कैसा लगा comments मे बताये ओर भी ऐसे रोचक तथ्य ओर जानकारी को पढ़ने के लिये हमारे पोस्त को पढ़े।

 

 

 

 

mercury planet fact in Hindi
  • Save